आपकी आँखों की कसम


उफ़्फ़ खूबसूरत शरबती आपकी आँखों की कसम,
खुदा की बनाई लाजवाब मूरत हो./
देखते ही हर कोई दीवाना हो  जाए आप को सनम,
ऐसी  नायाब  खूबसूरत  मूरत  हो.//

murat.jpg

तेरी खामोशियों की दास्ताँ


बहुत खूब  है  तेरी  खामोशियों की दास्ताँ,
गर  जुबां  होती  तो  क्या  बात  होती./
रवि‘सुना खामोश नज़र बहुत कुछ बोलती,
मुहब्बत पहले-पहल यूँही बयान होती.//

dastaan.jpg

उम्मीद


उम्मीद से है ज़िन्दगी,
और ज़िन्दगी में उम्मीदों के कारवां’रवि‘./
इक खत्म होता नहीं,
दूजे संग आस लगा ज़िन्दगी चढे परवान.//

12.jpg


बड़े-बड़े बोल बोलना-लिखना आसाँ है, वक़्त आने पर अमल में लाना उतना ही मुश्किल.!!
❓

mushkil


सपनें देखने भी चाहिए और देखे गए सपने यक़ीनन पूरे भी होते हैं,
गर देखे गए सपने पाक-साफ़ और खुदगर्ज ना हों.!!

sapne

🌹इक़रार🌹


🌹यूँ नित रातों को जगना किसी का इंतज़ार करना,
इक टवीट पर टवीट कई हज़ार करना./
गुमाँ होता इस दिल को भी किसी से प्यार हुआ है,
इक़रार तो’रवि‘को इनकार ना करना.//
🌹

iqraar.jpg

तेरे सीने में’रवि’दिल💟💟 बन धड़कता था.//


ज़िन्दगी में जब भी  हुआ  तन्हा वो वक़्त याद आया,
जब कभी तेरे हाथों में मेरा हाथ होता था./
खाती थी कसमें उम्र भर साथ निभाने की’रवि‘संग,
तेरे सीने में ‘रवि‘ दिल  बन धड़कता था.//💟💟

wo waqt.jpg

कशिश


अब के गर मिलने आये तो  देर तल्क रुकना,
कुछ पल का मिलन कभी भाता नहीं दिल को./
समझना’रवि‘की धडकनों की कशिश बेचैनी,
जानता हूँ वैसे इस से वास्ता नहीं तेरे दिल को.//

wasta.jpg

ज़िन्दगी तेरी मोहताज हो गई है


33.png

सुबह से शाम इबादत हो चली है,
तेरी आरज़ू’रवि‘की ख्वाहिश हो चली है./
देखता जिस भी और नज़र आती,
ज़िन्दगी जैसे तेरी ही मोहताज हो गई है.//

जवानी कुछ दिन की होती इतना ना इतराइये.//


garur.png

आवारा जुल्फों को माथे से हटा काँधे पल डालिये,
रवि‘तरसता है चाँद-सा मुखड़ा तो दिखाइए./
इतनी मगरूरियत यारों से अच्छी नहीं होती यारा,
जवानी कुछ दिन की होती इतना ना इतराइये.//

वजह


शक़ है जहाँ प्यार है वजह,
और प्यार है तो हक़ भी मांगता./
वो प्यार प्यार ही कहाँ’रवि,
जिसमें शक़ ना हो  हक़ ना हो.//

wajah.jpg

 

दुआ करता’रवि’


ख़ुदा करे तेरा ये इंतज़ार मुकम्मिल हो,
तू जिसे चाहे है तेरा वो  प्यार  तेरा हो./
नाचीज़ हूँ बेशक पर दुआ करता’रवि‘,
रब्ब की चौखट से कभी मायूस ना हो.//

yo.jpg

ताह उम्र🌹🌹


ताह उम्र गर साथ देने का वादा करो,
कसम खुदा की मरते दम तल्क साथ निभाएंगे./
तूफान आएं चाहे कितने भी’रवि‘,
हर कीमत पर जान दे वादा-ए-वफ़ा निभाएंगे.// 🌹🌹

ताह उम्र गर.jpg

इतनी मगरूरियत अच्छी नहीं


अव्वल तो वो मिलते ही नहीं
और गर भूले से मिल जाएँ तो./
मुंह फेर चल देते हैं दूजी और,
जैसे की पहचानते ही नहीं.//
इतनी मगरूरियत अच्छी नहीं,
यारो से यूँ दूरी ठीक नहीं./
नसीब से मिलता चाहने वाला,
ख़ुदा से बगावत अच्छी नहीं.//

naseeb.jpg

कैसे


रवि‘वो रातों को जगा खुद कैसे चैन से सो लेते हैं ./
बेहया हैं अपने  चाहने  वाले  को कैसे तड़प लेते हैं.//

kaise.jpg

Ravi‘ Wo raaton ko jaga khud kaise chain se so lete hain./
Behaya hain Apne chahne waale ko kaise tadpa lete hain.//

तेरे बिन


कल की किसे पड़ी आज ही सब कुछ जीना,
सुख की तलाश में सीख लिया है दुःख सहना./
ज़िन्दगी में कब क्या हो जाए कोई ना जनता,
तेरे बिन जहां में’रवि‘ने भी फिर कहाँ रहना.//

kaun jaane.jpg

खिलौना


परांठे और लस्सी का मेल बड़ा सोहना,
दिलकश फरेबी और मन-मोहना./
प्यार जे होना ‘रवि‘ तै होके रहना मनो,
बेशक बाद नूं खेले समझ खिलौना.//

khilona.jpg